मनीष ने इसे डराया-धमकाया था कि अगर यह बात किसी को बताएगी, तो वह इसे जान से मार देगा। इसके चलते दुष्कर्म की यह बात इसने किसी को नहीं बताई और जब इसके पेट में बार-बार दर्द होने लगा, तो यह बात उसने अपनी मां को बताई। जिसके बाद शक होने पर जब इसे चिकित्सकों को दिखाया गया तो उन्होंने बताया कि नाबालिग बच्ची के पेट में गर्भ पल रहा है। जिसके बाद पुलिस थाना संगड़ाह में मनीष के खिलाफ विभिन्न धाराओं में मामला दर्ज कर आगामी छानबीन शुरु कर दी गई है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक विरेंद्र ठाकुर ने मामले की पुष्टि की है।